अंतिम अद्यतन : 01/03/2019
राष्ट्रीय संग्रहालय संस्थान
कला इतिहास, संरक्षण एवं संग्रहालय विज्ञान
(विश्वविद्यालयवत्)
संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार
 
 
 
 
 
शुल्क ढांचा

1. प्रवेश के समय देय शुल्क (संस्थान के लेखा अनुभाग में)

क्र.सं.
विवरण
स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम
पी.एच.डी. पाठ्यक्रम
(i)
पंजीकरण शुल्क
500.00
500.00
(ii)
अवधान निधि (वापस की जाने वाली)
2,000.00
2,000.00
कुल
2,500.00
2,500.00

2. बैंक में देय शुल्क

स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम: रु.10,000.00/- प्रति वर्ष

पी.एच.डी. पाठ्यक्रम: रु.15,000.00/- प्रति वर्ष

 


3. मूल्यांकन शुल्क:

पीएच.डी. थीसिस जमा करने के लिए शुल्क
:
रु.500/-
स्नातकोत्तर की उत्तर पुस्तिका के पुनर्मूल्यांकन के लिए शुल्क
:
रु.500/- प्रति उत्तर पुस्तिका

 

   

टिप्पणी:

 
  • छात्रों को अवधान निधि, संस्थान छोड़ने के चार वर्षों के अन्दर सम्बद्ध देयताओं, यदि कोई हूँ, को काटने के पश्चात वापस कर दी जाती है। यदि इस अवधि के अन्दर वापसी के लिए कोई दावा प्राप्त नहीं होता है, तो यह अवधान निधि सम्बन्धित विभागों से बेबाकी प्रमाण-पत्र लेने के पश्चात जब्त कर ली जाएगी और इसके बाद निधि वापस लेने के लिए दावे पर कोई विचार नहीं किया जाएगा।
  • यदि कोई छात्र/अध्येता, निर्धारित तारीख तक अपनी देयताओं को जमा नहीं कराता/कराती है तो उसे 10 रूपये का विलम्ब शुल्क देना होगा, बशर्ते कि वह अपनी देयताएं, उस महीने के अंत से पहले जमा नहीं कर देते हैं, जिस माह में देयताओं का भुगतान किया जाना देय है और यदि देयताएं अगले महीने की 15 तारीख तक जमा की जाती हैं तो 25 रूपये का दंड देना होगा।
  • इस तारीख के बाद छात्र का नाम काटा जा सकता है, परन्तु कुल सचिव के अनुमोदन से पुनः प्रवेश शुल्क के रूप में 100 रूपये (पाठ्यक्रम के लिए नियमित शुल्क के अलावा) का भुगतान करने पर पुनः प्रवेश दिया जा सकता है और कोई विलम्ब शुल्क नहीं लिया जाएगा।
  • सेमेस्टर शुरू होने से पहले अथवा सेमेस्टर के प्रथम माह के प्रथम सप्ताह के अन्दर सभी शुल्क जमा कर दिए जाने होंगे। केवल चिकित्सीय कारणों से ही सात दिनों की अवधि की छूट दी जा सकती है।
  • कुलपति, योग्य छात्रों के मामलों में विलम्ब शुल्कों और पुनः दाखिला लेने के शुल्कों की वसूली को माफ कर सकते हैं। यदि इस प्रयोजन के लिए आवश्यक समझा जाए तो कुलपति, इस प्राधिकार को कुलसचिव को प्रत्यायोजित कर सकता है।
  • सभी शुल्क और जमाराशि बैंक के कार्य समय के अनुसार बैंक ऑफ बड़ौदा में नकद अथवा कुलसचिव, एनएमआईएचएसीएम, नई दिल्ली के पक्ष में बैंक डिमांड ड्राफ्ट अथवा चैक द्वारा जमा करानी होगी।
  • चैक, जिस बैंक पर आहरित है से वापस किए जाने पर, चाहे वे किसी भी कारण से वापस किए गए हों, को देयताओं की गैर-अदायगी समझा जाएगा और 50 रूपये की अतिरिक्त राशि, विलम्ब शुल्क के साथ ली लिया जाएगा।
  • जब तक सभी पिछले शुल्क/देयताएं पूरी तरह से अदा नहीं पर दिए जाते हैं, कोई शुल्क चालू सेमेस्टर के लिए अथवा अग्रिम शुल्क नहीं माना जाएगा।
  • प्रदत्त शुल्कों की अनुसूची में अथवा ऊपर न दिए गए पाठ्यक्रम के शुल्कों में किसी प्रकार का संशोधन प्रबन्ध मंडल द्वारा समय समय पर किए गए संशोधन के अनुसार होगा।
  • संस्थान के लिए शुल्कों की गैर अदायगी के बारे में शुल्क सूचना/अनुस्मारक जारी करना अनिवार्य नहीं होगा।
  • पहचान कार्ड और पुस्तकालय कार्ड तभी जारी किए जाएंगे जब देयताएं/शुल्क बैंक में जमा हो जाएंगे।
  • शुल्कों के भुगतान के बारे में किसी भी प्रकार का स्पष्टीकरण, संस्थान के वित्त अधिकारी और सहायक कुलसचिव (अकादमिक) से लिया जा सकता है।
   
 

अल्पावधि पाठ्यक्रम

 

प्रवेश पत्र प्राप्त होने के पश्चात रूपये 5000/- कार्यालय में जमा कराने होंगे।

   
 
राष्ट्रीय संग्रहालय संस्थान
कला इतिहास, संरक्षण एवं संग्रहालय विज्ञान
(विश्वविद्यालयवत्), संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार
फोनः +91 11 23012106

  होम  |  एफ ए क्यू  |  रिक्तियों की स्थिति  |  ऱिक्तियां  |  निविदा / कोटेशन  |  संस्कृति मंत्रालय के साथ समझौता ज्ञापन  |  आर एफ डी  

  यौन उत्पीड़न पर आईसीसी  |  रैगिंग विरोधी कमेटी  |  आर टी आई  |  शिकायत  |  डाउनलोड  |  साइटमैप  |  सम्पर्क करें  

कॉपीराइट © 2017 राष्ट्रीय संग्रहालय संस्थान, सर्वाधिकार सुरक्षित